Rahat Indori Shayari

Anurag Shukla
Shayari, Slogans, Jokes, Quotes & Funny Images
बोतलें खोल कर तो पी बरसों  Rahat Indori

बोतलें खोल कर तो पी बरसों 

आज दिल खोल कर भी पी जाए 

Anurag Shukla
Shayari, Slogans, Jokes, Quotes & Funny Images
Rahat Indori अब ना मैं वो हूँ, ना बाकी हैं ज़माने मेरे

अब ना मैं वो हूँ, ना बाकी हैं ज़माने मेरे

अब ना मैं वो हूँ, ना बाकी हैं ज़माने मेरे

फिर भी मशहूर हैं, शहरों में फ़साने मेरे


जिंदगी हैं तो नए जख्म भी लग जायेंगे

अब भी बाकी हैं कई दोस्त पुराने मेरे

आप से रोज़ मुलाक़ात की उम्मीद नहीं

अब कहा शहर में रहते हैं ठिकाने मेरे

Anurag Shukla
Shayari, Slogans, Jokes, Quotes & Funny Images
Anurag Shukla
Shayari, Slogans, Jokes, Quotes & Funny Images
Anurag Shukla
Shayari, Slogans, Jokes, Quotes & Funny Images