Two Line Shayari

Reshu
Keep Smiling...
बनके सावन कहीं वो बरसते रहे - Sawan shayari in Hindi.

बनके सावन कहीं वो बरसते रहे

इक घटा के लिए हम तरसते रहे

आस्तीनों के साये में पाला जिन्हें,

साँप बनकर वही रोज डसते रहे


Reshu
Keep Smiling...
लाख बरसे झूम के सावन मगर वो बात कहाँ.. - Sawan shayari in Hindi.

लाख बरसे झूम के सावन मगर वो बात कहाँ..

जो ठंडक पङती है दिल में तेरे मुस्कुराने से ..


W3mirchi Team
Shayari, Slogans, Jokes, Quotes & Funny Images
Shayari in hindi


वफ़ा निभा के वो हमे कुछ दे ना सके,

पर बहुत कुछ दे गये जब वो बेवफा हुए