आज़ादी वो बेमिसाल नारे

Most Popular Slogans Of Indian Freedom Fighters

आज़ादी के ऐसे नारे जो आज भी लोगों के दिलों में क्रांति और उत्साह भर देते हैं. 

आज़ादी वो बेमिसाल नारे

  •  “वंदे मातरम”- बंकिमचंद्र चटर्जी
  • “मेरे सिर पर लाठी का एक-एक प्रहार, अंग्रेजी शासन के ताबूत की कील साबित होगा” – लाला लाजपत राय
  • कर्त्तव्य पथ पर गुलाब-जल नहीं छिड़का होता है और ना ही उसमे गुलाब उगते हैं.।” ~ बाल गंगाधर तिलक
  •  “दुश्मन की गोलियों का हम सामना करेंगे, आजाद ही रहे हैं, आजाद ही रहेंगे” – चंद्र शेखर आजाद
  • “अंग्रेजों भारत छोड़ो” – महात्मा गांधी
  • “तुम मुझे खून दो, मैं तुम्हें आजादी दूंगा” – नेताजी सुभाष चंद्र बोस
  • “इंकलाब जिंदाबाद” – भगत सिंह
  •  “जन-गण-मन अधिनायक जय हे” – रवींद्र नाथ टैगोर
  •  “स्वराज मेरा जन्मसिद्ध अधिकार है, और मैं इसे लेकर रहूंगा” – बाल गंगाधर तिलक
  • “अपने हितों की रक्षा के लिए यदि हम स्वयं जागरूक नहीं होंगे तो दूसरा कोन होगा?” ~ बाल गंगाधर तिलक
  • “सारे जहां से अच्‍छा हिन्‍दोस्‍तां हमारा” – अल्‍लामा इकबाल
  • “सरफरोशी की तमन्ना, अब हमारे दिल में है” – रामप्रसाद बिस्मिल
  • “जय हिंद” – सुभाष चंद्र बोस
  • “जय जवान, जय किसान” – लाल बहादुर शास्‍त्री
  • “आराम हराम है” – जवाहरलाल नेहरू
  •  “सत्यमेव जयते” – पंडित मदनमोहन मालवीय
  • “करो या मरो” – महात्मा गांधी