Sawan Ki Shayari

Reshu
Keep Smiling...
बनके सावन कहीं वो बरसते रहे - Sawan shayari in Hindi.

बनके सावन कहीं वो बरसते रहे

इक घटा के लिए हम तरसते रहे

आस्तीनों के साये में पाला जिन्हें,

साँप बनकर वही रोज डसते रहे


W3mirchi Team
Shayari, Slogans, Jokes, Quotes & Funny Images

इस बारिश के मौसम में अजीब सी कशिश है
ना चाहते हुए भी कोई शिदत से याद आता है..

W3mirchi Team
Shayari, Slogans, Jokes, Quotes & Funny Images
W3mirchi Team
Shayari, Slogans, Jokes, Quotes & Funny Images

Ab Kon Se Mausam Se Koi Aas Lagaye
Barsaat Mein Bhi Yaad Na Jab Un Ko Hum Aye..