Actor Vinod Mehra Biography, एक्टर विनोद मेहरा बायोग्राफी

Actor Vinod Mehra Biography

ये दास्ताँ हैं उस अभिनेता की जो फ़िल्मों में बतौर चाइल्ड आर्टिस्ट काम किया और उसके बाद बन गए ये हिंदी सिनेमा के बेहतरीन सुपरस्टार. इनका नाम हैं विनोद मेहरा.  इन्होंने अभिनय के साथ साथ बतौर प्रोडूसर और डायरेक्टर भी काम किया और फ़िल्म बनाई गुरूदेव जो इनके देहांत के 3 साल बाद रिलीज़ हुई. 

विनोद मेहरा साहब ने बतौर एक्टर 100 से ज्यादा फ़िल्मों में कई सारे सुपरस्टार के साथ काम किया. 

जन्म, परिवार और एजुकेशन 

विनोद मेहरा साहब का जन्म 13 फरवरी 1945 में अमृतसर में हुआ था. इनके पिता का नाम परमेश्वरीदास मेहरा और माँ का नाम कमला मेहरा था. विनोद का परिवार आज़ादी के बाद बॉम्बे शिफ्ट हो गया और इनके पिता ने मुंबई में बिज़नेस शुरू किया. इनकी पढ़ाई शुरू हुई सेक्रेड हार्ट बॉयज हाई स्कूल से शुरू हुई और इसके बाद इन्होंने अपना ग्रेजुएशन किया  St. Xavier's College मुंबई से. इनकी एक बड़ी बहन थी जिनका नाम था श्रद्धा और उन्होंने भी कुछ फ़िल्मों में काम किया था. 


चाइल्ड आर्टिस्ट से लीडिंग एक्टर बनने की कहानी 

साल 1950 के अंत और 60 के दशक की शुरूआत में विनोद बतौर चाइल्ड आर्टिस्ट फ़िल्मों में नज़र आने लगे. इनकी पहली फ़िल्म बतौर चाइल्ड आर्टिस्ट थी रागिनी जिसमें इन्होंने महान एक्टर किशोर दा के बचपन का किरदार निभाया था. 

साल 1971 में इन्होंने बतौर लीड एक्टर अपना फ़िल्मी डेब्यू किया और फ़िल्म ''एक थी रीता'' जो की एक इंग्लिश प्ले पर बेस्ड थी. साल 1965 में यूनाइटेड फ़िल्म प्रोडूसर के द्वारा करायेगे कम्पीटीशन में ये सेकेंड स्थान पर थे. सुपरस्टार राजेश खन्ना इस कम्पीटीशन में फर्स्ट आये थे. इसके बाद विनोद ने कुछ बेहतरीन फ़िल्मों में बतौर एक्टर नज़र आये और इनको को मकबूलियत हासिल हुई. जैसे अनुराग, ऐलान, अमर-प्रेम, और लाला पत्थर. 

Superstar Vinod Mehra Son Biography

शुरूआती दौर में ये बतौर सोलो लीड एक्टर नज़र आये, उसके बाद सपोर्टिंग रोल और सेकेंड लीड एक्टर के रूप में काम किया. इन्होंने अपने समय के सभी बड़े स्टार जैसे अमिताभ बच्चन, राजेश खन्ना, संजीव कुमार, सुनील दत्त और धर्मेंद्र के साथ नज़र आये. 

इनकी को-एक्ट्रेस रही, मौसमी चटर्जी, योगिता बाली, शबाना आज़मी और रेखा. 


पर्सनल लाइफ, डेथ और फ़िल्में 

विनोद मेहरा ने शादी की केन्या के ट्रांसफोर्ट बिज़नेसमैन की बेटी किरण से और 30 अक्टूबर 1990 में हार्ट अटैक आने से इनका निधन हो गया. इनकी मौत के बाद इनकी पत्नी दोनों बच्चों के साथ केन्या चली गई. इनकी बेटी सोनिया मेहरा भी एक्ट्रेस हैं और इनके बेटे ने साल 2018 में आई फ़िल्म बाज़ार से अपना बॉलीवुड में डेब्यू किया. विनोद साहब ने अपने 20 साल के करियर में तकरीबन 100 से ज्यादा फ़िल्में की. 

इनकी कुछ चुनिंदा फ़िल्में निम्न हैं... 

  • Anurodh 
  • Ab Kya Hoga 
  • Saajan Bina Suhagan 
  • Ghar 
  • Swarag Narak 
  • Chowki No.11
  • Chakravyuha 
  • Aakhri Kasam 
  • Kartavya 
  • Jurmana 
  • Jaani Dushman 
  • Bin Phere Hum Tere 
  • Raakhi Ki Saugandh 
  • Love in Canada 
  • Jaandar 
  • Dada
  • Amar Deep 
  • Pyari Behna 
  • Sanjog 
  • Shiva Ka Insaaf
  • Maujaan Dubai Diyaan 
  • Ankahee 
  • Jaal 
  • Aap Ke Sath 
  • Mohabbat Ki Kasam 
  • Locket 
  • Swati 
  • Aisa Pyar Kahan 
  • Patton Ki Bazi