Raksha Bandhan Shayari

Arvind Katiyar
स्वयं के शरीर का भी रखे ध्यान, स्वस्थ आहार और व्यायाम से शरीर हो बलवान।
कच्चे धागों से बनी पक्की डोर हैं राखी - Rakhi Shayari

कच्चे धागों से बनी पक्की डोर हैं राखी

प्यार और मीठी शरारतों की होड़ हैं राखी

भाई की लम्बी उम्र की दुआ हैं राखी

बहन के प्यार का पवित्र धुआं हैं राखी

Arvind Katiyar
स्वयं के शरीर का भी रखे ध्यान, स्वस्थ आहार और व्यायाम से शरीर हो बलवान।

किसी के ज़ख़्म पर चाहत से पट्टी कौन बाँधेगा,

अगर बहनें नहीं होंगी तो राखी कौन बाँधेगा?

रक्षा बंधन की शुभ कामनाएँ!

Arvind Katiyar
स्वयं के शरीर का भी रखे ध्यान, स्वस्थ आहार और व्यायाम से शरीर हो बलवान।
बहनों का प्यार मुबारक हो - Happy Rakhi Shayari

बहनों को भाइयों का साथ मुबारक हो

भाइयों की कलाइयों को बहनों का प्यार मुबारक हो

रहे ये सुख हमेशा आपकी जिन्दगीं में

आप सबको राखी का पावन त्यौहार मुबारक हो

Arvind Katiyar
स्वयं के शरीर का भी रखे ध्यान, स्वस्थ आहार और व्यायाम से शरीर हो बलवान।
जन्मों का ये बंधन है - Raksha Bandhan Shayari in Hindi

जन्मों का ये बंधन है,

स्नेह और विश्वास का..

और भी गहरा हो जाता है ये रिश्ता..

जब बंधता है धागा रक्षाबंधन के प्यार का…


रक्षा बंधन की शुभ कामनाएं