Saqi Shayari | साकी शायरी Page: 2

Akansha Sharma
Shayari, Slogans, Jokes, Quotes & Funny Images
2 Line Saqi Shayari in Hindi

ग़ुरबत न दे सकी मेरे ज़मीर को शिकस्त, 

झुक कर किसी अमीर से मिलते नहीं हैं हम! 

Akansha Sharma
Shayari, Slogans, Jokes, Quotes & Funny Images
दिखा के मदभरी आंखें कहा ये साकी ने,

दिखा के मदभरी आंखें कहा ये साकी ने,

हराम कहते हैं जिसको यह वो शराब नहीं।

Akansha Sharma
Shayari, Slogans, Jokes, Quotes & Funny Images
सवाल तो तेरी तवज्जो का है साकी,

सवाल तो तेरी तवज्जो का है साकी, 

हम तो ये भी न बता पाएं कि प्यासे थे हम!

Akansha Sharma
Shayari, Slogans, Jokes, Quotes & Funny Images
बैठा हूँ मयखाने में

बैठा हूँ मयखाने में

गम मिटा रहा हूँ

मैं भी क्या अजीब हूँ

शिकायत ख़ुदा से है

मैं साकी को बता रहा हूँ

Akansha Sharma
Shayari, Slogans, Jokes, Quotes & Funny Images
निगाहे-मस्त से

निगाहे-मस्त से  मुझको पिलाये जा साकी,

हसीं निगाह भी  जामे-शराब होती है।

Akansha Sharma
Shayari, Slogans, Jokes, Quotes & Funny Images
बात साक़ी की न टाली जाएगी

बात साक़ी की न टाली जाएगी 

कर के तौबा तोड़ डाली जाएगी