Nag Panchami Shayari | नाग पंचमी शायरी Page: 1

Arvind Katiyar
स्वयं के शरीर का भी रखे ध्यान, स्वस्थ आहार और व्यायाम से शरीर हो बलवान।
देवादिपति महादेव का है आभूषण - Naag Hindi Shayari

देवादिपति महादेव का है आभूषण

श्री विष्णु भगवान का है शेष नाग सिंहासन

अपने फन पर जिसने पृथ्वी उठाई

ऐसे नाग देवता को मेरा वंदन

नाग पंचमी की शुभकामनाएँ

Arvind Katiyar
स्वयं के शरीर का भी रखे ध्यान, स्वस्थ आहार और व्यायाम से शरीर हो बलवान।
नाग पंचमी की सौगात - Naag Panchami Shayari

नाग देवता करे आपकी रक्षा

पिलाये दूध उन्हें मीठा मीठा

हो आपके घर में धन की बरसात

ऐसी शुभ हो नाग पंचमी की सौगात

Arvind Katiyar
स्वयं के शरीर का भी रखे ध्यान, स्वस्थ आहार और व्यायाम से शरीर हो बलवान।
सावन का आया भक्तों महिना -Happy Naag Panchami Shayari

सावन का आया भक्तों महिना है

नाग-पंचमी का त्योंहार है

जो दिल से बाबा का नाम जपे हरदम

उसका होता हमेशा बेड़ा पार है

Arvind Katiyar
स्वयं के शरीर का भी रखे ध्यान, स्वस्थ आहार और व्यायाम से शरीर हो बलवान।
Naag Panchami Shayari In Hindi

आओ सब मिलकर नाग-पंचमी मनाएं

अपने घर आंगन को आक से सजाएँ

होंगे खुश महादेव हम भक्तों से

आपको नाग-पंचमी की बधाई हो दिल से

Page 2