Facts about Space in Hindi, अंतरिक्ष के बारे में रोचक तथ्य

FACTS ABOUT SPACE IN HINDI, अंतरिक्ष के बारे में रोचक तथ्य

FCT-6568

इंसान जब अंतरिक्ष में अपनी रीढ़ की हड्डी को सीधा करता है, तो उसकी लम्बाई लगभग 2.25 इंच बढ़ जाती है। ये ऐसा गुरुत्वाकर्षण की वजह से होता है।

FCT-6566

स्पेस में यदि दो धातु आपस में स्पर्श कर ले, तो वह हमेशा के लिए जुड़ जाती है।

FCT-6567

अंतरिक्ष सूट को बनाने में लगभग 12 मिलियन डॉलर का खर्च आता है।

FCT-6563

सूर्य को जब स्पेस से देखा जाता है, तो यह काला दिखाई देता है।

FCT-6564

सन 1966 में, space में पहली सेल्फी बज एल्ड्रिन द्वारा ली गई थी। आज के समय में इसकी कीमत 6 लाख रूपये है।

FCT-6565

Space में जाकर आप रो नहीं सकते,क्योकि स्पेस में गुरुत्वाकर्षण बल नहीं है। जिसकी वजह से आंसू नीचे गिरे।

FCT-6569

अंतरिक्ष में धरती से कई गुना ज्यादा पानी है, लेकिन सारा पानी तैराकी अवस्था में है।

FCT-6570

स्पेस में जाने वाले लोग बताते है, कि स्पेस में वैल्डिंग के धुएं की बदबू बिल्कुल गर्म धातु जैसी आती है।

FCT-6571

स्पेस में एक दिन(धरती का एक दिन) में 15 बार सूर्य उगता है और डूबता है।

FCT-6572

अंतरिक्ष में सोने के लिए आँखो पर पट्टी बांधनी पड़ती है।

FCT-6573

आकाशगंगा की चौड़ाई लगभग 100,000 प्रकाश वर्ष हैं।

FCT-6574

वैज्ञानिकों का अनुमान है की सौर मंडल 4.6 अरब वर्ष पुराना है

FCT-6575

अरुण ग्रह को मूल रुप से जॉर्ज स्टार कहा जाता हैं।

FCT-6576

प्लेटो पृथ्वी के चंद्रमा से छोटा हैं।

FCT-6577

अंतरिक्ष में जन्मे काकरोच पृथ्वी पर जन्मे तिलचट्टे से तेज, ताकतवर, सख्त, और तेज़ हो जाते हैं।

FCT-6578

मंगल ग्रह का दिन 24 घंटे 39 मिनट और 35 सेकंड का होता हैं।

FCT-6579

चाँद पर जाने वाले पहले व्यक्ति नील आर्मस्ट्रांग ने अपना बाएं पैर सबसे पहले रखा था।

FCT-6580

हमारे लिए सबसे निकटम आकाशगंगा एंड्रोमेडा गैलेक्सी हैं।

FCT-6581

अगर आप अंतरिक्ष में जाते है तो आप गला घुटने की बजाए शरीर के फटने से पहले मर जाएगें क्योंकि वहाँ पर हवा का दबाब नही हैं।

FCT-6582

बुध का कोई वायुमंडल नहीं है

FCT-6583

अंतरिक्ष पूरी तरह से शांत है क्योंकि हवा नहीं हैं।

FCT-6584

अंतरिक्ष लचीला है।

FCT-6585

शनि का घनत्व इतना कम है की यदि आप शनि में पानी डालते है तो यह फ्लोट होगा।

FCT-6586

सौर मंडल में चार बौना ग्रह है।

FCT-6587

अंतरिक्ष में पहली मानव निर्मित वस्तु जर्मन वी 2 रॉकेट थी।