Facts about Jallianwala Bagh Massacre In Hindi, जलियांवाला बाग हत्याकांड के बारे में रोचक तथ्य

FACTS ABOUT JALLIANWALA BAGH MASSACRE IN HINDI, जलियांवाला बाग हत्याकांड के बारे में रोचक तथ्य

FCT-6518

जलियांवाला बाग कांड एक ऐसा कांड था जिसकी वजह से ही हमें आजादी मिल पाई है।

FCT-6522

जलियांवाला बाग अमृतसर में स्वर्ण मंदिर के पास केवल 1.3 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है।

FCT-6523

जलियांवाला बाग में चलने वाली गोलियों के निशान आज भी दीवारों पर देखे जा सकते हैं।

FCT-6524

जलियांवाला बाग हत्याकांड को लेकर जनरल रेजीनॉल्ड डायर ने अपने उच्च अधिकारियों को यह बयान दिया था कि उन पर भारतीयों की एक फ़ौज ने हमला किया था जिससे बचने के लिए उसको गोलियाँ चलानी पड़ी।

FCT-6525

स्मारक बनाने हेतु आम जनता से चंदा इकट्ठा करके इस जमीन के मालिकों से करीब 5 लाख 65 हजार रुपए में इसे खरीदा गया था।

FCT-6526

वह कुआँ भी मौजूद हैं जिसमें लोग गोलीबारी से बचने के लिए कूद गए थे।

FCT-6519

बैसाखी जैसे शुभ दिन पर जलियांवाला बाग हत्याकांड हुआ था।

FCT-6520

जलियांवाला बाग हत्याकांड में लगभग 10 मिनट तक गोलियां चली थी।

FCT-6521

स्मारक में लौ के रूप में एक मीनार बनाई गई है जहाँ शहीदों के नाम अंकित हैं। यह डिज़ाइनअमेरिकी वास्तुकार बेंजामिन पोल्क ने बनाई थी।

FCT-6514

एक साधारण सा बाग जलियांवाला बाग हत्याकांड 13 अप्रैल सन् 1919 को बना। इसी दिन जलियांवाला बाग में जनरल डायर ने कई मासूम लोगों पर गोलियां चलाने का आदेश दिया था जिससे हजारों लोगों की मौत हो गई थी।

FCT-6515

जब जलियांवाला बाग में गोलियां बरस रही थी सब लोग गोलियों से बचने के लिए वहां मौजूद कुएं में कूदने लगे थे।

FCT-6516

जलियांवाला बाग कभी जलली नामक आदमी की संपत्ति थी।

FCT-6517

जलियांवाला बाग हत्याकांड में एक 6- सप्ताह का बच्चा भी मारा गया था।