क्यूँ किसी की यादों को सोच कर रोया जाए,

  क्यूँ किसी के ख्यालों में यूँ खोया जाए,


  बाहर मौसम बहुत ख़राब हैं,

  क्यूँ न रजाई तानकर सोया जाए...

Click Here To Read Full Post

7930 Views


 ठण्ड में वादा नही करते कि दोस्ती निभायेंगे,

  जरूरत पड़ी तो सब कुछ ले लो,

  पर रजाई न दे पायेंगे....

Click Here To Read Full Post

6935 Views


 सर्दी के मौसम का मजा अलग सा है,

  रात मे रजाई का मजा अलग सा है.


  धुंध ने आकर छिपा लिया सितारों को,

  आपकी जुदाई का ऐहसास अब अलग सा है

Click Here To Read Full Post

7136 Views


 शायरी सर्दी की ठिठुरती रात में फुटपाथ पर अरमान है

   दिलबर मुझे छोड़के किसी और पे मेहरबान है.....

Click Here To Read Full Post

7360 Views


 सीतल-सीतल वायु चली,

 आकाश हुआ सुहाना,

  अनपढ़  भी व्हाट्सऐप पढ़ने लगे,

  शिक्षित हुआ ज़माना....

Click Here To Read Full Post

6872 Views


 दिल की धडकने रुक सी गई हैं,

  साँसे मेरी धम सी गई हैं.

  पुछा हमने दिल के डाक्टर से.


  तो पता चला सर्दी के कारण आपकी यादें.

   दिल में जम सी गई हैं

Click Here To Read Full Post

6842 Views