देखकर मेरी आँखें एक फकीर कहने लगा,


   पलकें तुम्हारी नाज़ुक है, 


   खवाबों का वज़न कम कीजिये...!

Click Here To Read Full Post

9382 Views


ना दूर रहने से रिश्ते टूट जाते हैं

ना पास रहने से जुड़ जाते हैं 

यह तो एहसास के पक्के धागे हैं 

जो याद करने से और मजबूत हो जाते हैं


Click Here To Read Full Post

7031 Views

जिस जिसका मैं हुआ नहीं

उसकी जिंदगी सवर गयी

मैं राह देखता रहा जाने किसकी

और इन्ही राहों पे ये जिंदगी गुजर गयी


Click Here To Read Full Post

14339 Views

 मैं आप के बारे में सोच रहा था,

 और मुझे आश्चर्य हुआ कि आप

 कितनी देर तक मेरे ज़हन में थे 

तब मुझे एहसास हुआ: जबसे आप 

मुझे मिले, आपने कभी मेरा साथ नहीं छोड़ा!! 


Click Here To Read Full Post

5590 Views