Gulzar Shayari, गुलज़ार की शायरी

Reshu

Keep Smiling...
Fir whi lotkr jana hoga - Gulzar Shayari

सिर्फ एक सफ़ाह

पलटकर उसने,

बीती बातों की दुहाई दी है।

फिर वहीं लौट के जाना होगा,

यार ने कैसी

रिहाई दी है।

-गुलज़ार


Wmirchi Team

Shayari, Slogans, Jokes, Quotes & Funny Images

 Din kuch aise

guzaarta hai koi,

  Jaise ehsaas

  utaarta hai koi

Aaina dekh kar tasalli hui,

   Humko iss ghar mein

    jaanta hai koi...

Wmirchi Team

Shayari, Slogans, Jokes, Quotes & Funny Images

Ud ke jate huye panchi ne

    bas itna hi dekha, 

Der tak haath hilati rahi

  woh shaakh fiza mein

    Alvida kehne ko?

  Ya paas bulane ke liye?

Wmirchi Team

Shayari, Slogans, Jokes, Quotes & Funny Images
“इल्म तो मिलता रहेगा बाद में भी मगर वो जो किताबों में मिला करते थे सूखे फूल और महके हुए रुक़्के किताबें मांगने, गिरने, उठाने के बहाने रिश्ते बनते थे उनका क्या होगा?” 

Wmirchi Team

Shayari, Slogans, Jokes, Quotes & Funny Images

एक याद से हैं आप ।

ये कला आपकी है ।

ख्यालों की ड्योढ़ी पर आ कर

चौखट पर हर्फ़ खिसका

अपनी जगह बना लेते हैं ।

कुछ लिहाज़ 

जो आप से जुड़े हैं ।

कुछ लिहाफ़

जो मैंने बुने हैं ।

मेरी कलम आपकी ही तलबगार है

ज़िंदगी 'गुलज़ार' है ।।

Wmirchi Team

Shayari, Slogans, Jokes, Quotes & Funny Images

मेरी सुबह की टहल में,

एक अलग सा सुकून है ।

बादलों की आस्तीन से

जब धूप झाँकती है

खेलती है सतोलिया

कुछ टूटे बिखरे टुकड़ो संग ।

मैं चल के पहुँचता हूँ

दरख्तों के आसेब में

जहाँ मेरी परछाई 

मुझ से ज़्यादा खुशनुमा है ।।


Page 2