Facebook Shayari

Reshu

Keep Smiling...

Reshu

Keep Smiling...

Reshu

Keep Smiling...
लाख बरसे झूम के सावन मगर वो बात कहाँ.. - Sawan shayari in Hindi.

लाख बरसे झूम के सावन मगर वो बात कहाँ..

जो ठंडक पङती है दिल में तेरे मुस्कुराने से ..


Reshu

Keep Smiling...
तूमनें बहुत बरसातें देखी है - Sawan shayari in Hindi.

मुझे मालूम है तूमनें बहुत बरसातें देखी है,

मगर मेरी इन्हीं आँखों से सावन हार जाता है…


Reshu

Keep Smiling...
वक़्त की जेब से ‘सावन’ चुरा लिया - Sawan shayari

पतझड़ दिया था वक़्त ने सौगात में मुझे..

मैने वक़्त की जेब से ‘सावन’ चुरा लिया…!!


Reshu

Keep Smiling...
पता नहीं क्या जादू है मेरी माँ के पैरों में - Ma shayari.

पता नहीं क्या जादू है मेरी माँ के पैरों में जितना झुकता हूँ उतना ही ऊपर जाता हूँ।   

Page 2