मत पूछ कैसे गुज़र रहा है हर पल मेरा तेरे बिना,
कभी बात करने की हसरत कभी मिलने की तमन्ना…

Click Here To Read Full Post

2966 Views

पुराने शहरों के मंज़र निकलने लगते हैं
ज़मीं जहाँ भी खुले घर निकलने लगते हैं

मैं खोलता हूँ सदफ़ मोतियों के चक्कर में
मगर यहाँ भी समन्दर निकलने लगते हैं

Click Here To Read Full Post

2660 Views

मैं चंद्रमुखी
तू सूरजमुखी
मैं तुझसे दुखी
तू मुझसे दुखी
एक काम कर दे बिल्डिंग से कूदकर मरजा तू भी सुखी मैं भी सुखी |

Click Here To Read Full Post

3760 Views


Na Waqif The Hum Chahat K Asulon Se, Is Liye Barbaad Huye…..


Na Usne Apna Banaya Na Kisi Aur K Qabil Chodha..

Click Here To Read Full Post

3005 Views

वो नहीं आते पर निशानी भेज देते है
ख्वाबो में दास्ताँ पुरानी भेज देते है
कितने मीठे है उनकी यादो के मंज़र
कभी कभी आँखों में पानी भेज देते है

Click Here To Read Full Post

8960 Views

न कुर्बतों में
सुकून है
न फासलों में करार है
ना वस्ल में मज़ा है
न हिज़्र में
वो सज़ा है
मैं कहूँ जान की आफत
तुम कहते हो कि प्यार है

Click Here To Read Full Post

4240 Views

Khuda salamat rakhna unko,

Jo humse nafrat karte hai,

Pyaar na sahi nafrat hi sahi,

Kuch to h jo wo sirf hmse krte h...

Click Here To Read Full Post

3773 Views