Shayari in hindi

तुमने समझा ही नहीं और ना समझना चाहा,

 हम चाहते ही क्या थे तुमसे "तुम्हारे सिवा" 

Click Here To Read Full Post

86622 Views