मैं तमाम दिन का थका हुआ,

तू तमाम शब का जगा हुआ,

ज़रा ठहर जा इसी मोड़ पर,

तेरे साथ शाम गुज़ार लूँ।

Click Here To Read Full Post

18906 Views

पके से आकर इस दिल में उतर जाते हो,

सांसों में मेरी खुशबु बनके बिखर जाते हो,

कुछ यूँ चला है तेरे इश्क का जादू,

सोते-जागते तुम ही तुम नज़र आते हो।

Click Here To Read Full Post

17263 Views

Aa Bhi Jaao Meri Aankhon Ke Rubaru Ab Tum,

Kitna Khwabon Mein Tujhe Aur Talasha Jaye.

Click Here To Read Full Post

9367 Views

छुपा लूं तुझको अपनी बाँहों में इस तरह,

कि हवा भी गुजरने की इजाज़त मांगे,

मदहोश हो जाऊं तेरे प्यार में इस तरह,

कि होश भी आने की इजाज़त मांगे।

Click Here To Read Full Post

18732 Views


Tum Mujhe Kabhi Dil Se Kabhi Aankhon Se Pukaaro,

Yeh Hontho Ke Takalluf Toh Zamaane Ke Liye Hain.

Click Here To Read Full Post

2503 Views