B. R. Ambedkar Slogans

B. R. AMBEDKAR SLOGANS

SL-1776

किसी भी कौम का विकास उस कौम की महिलाओं के विकास से मापा जाता हैं |"

SL-1777

एक महान व्यक्ति एक प्रख्यात व्यक्ति से एक ही बिंदु पर भिन्न हैं कि महान व्यक्ति समाज का सेवक बनने के लिए तत्पर रहता हैं।"

SL-1778

जो व्यक्ति अपनी मौत को हमेशा याद रखता है वह सदा अच्छे कार्य में लगा रहता है।

SL-1779

मैं ऐसे धर्म को मानता हूँ जो स्वतंत्रता, समानता, और भाई-चारा सीखाये।

SL-1780

जिस तरह हर एक व्यक्ति यह सिधांत दोहराता हैं कि एक देश दुसरे देश पर शासन नहीं कर सकता उसी प्रकार उसे यह भी मानना होगा कि एक वर्ग दुसरे पर शासन नहीं कर सकता |"

SL-1781

उदासीनता लोगों को प्रभावित करने वाली सबसे खराब किस्म की बीमारी है।"

SL-1782

एक महान व्यक्ति एक प्रतिष्ठित व्यक्ति से अलग है क्योंकि वह समाज का सेवक बनने के लिए तैयार रहता है।"

SL-1783

एक सुरक्षित सेना एक सुरक्षित सीमा से बेहतर है।"

SL-1784

क़ानून और व्यवस्था राजनीति रूपी शरीर की दवा है और जब राजनीति रूपी शरीर बीमार पड़ जाएँ तो दवा अवश्य दी जानी चाहिए।

SL-1785

We are Indians, firstly and lastly.

SL-1786

The relationship between husband and wife should be one of closest friends."

SL-1787

Life should be great rather than long. "

SL-1788

In Hinduism, conscience, reason and independent thinking have no scope for development."

SL-1789

Cultivation of mind should be the ultimate aim of human existence."

SL-1790

I measure the progress of a community by the degree of progress which women have achieved."

SL-1791

A great man is different from an eminent one in In that he is ready to be the servant of the society."

SL-1792

I like the religion that teaches liberty, equality and fraternity.

SL-1793

Indifferentism is the worst kind of disease that can affect people."

SL-1794

A safe army is better than a safe border.

SL-1795

Law and order are the medicine of the body politic and when the body politic gets sick, medicine must be administered."

SL-6151

हम आदि से अंत तक भारतीय है।

SL-6152

पति- पत्नी के बीच का सम्बन्ध घनिष्ट मित्रों के सम्बन्ध के सामान होना चाहिए ।"

SL-6153

जीवन लम्बा होने की बजाये महान होना चाहिए ।

SL-6154

हिंदू धर्म में, विवेक, कारण, और स्वतंत्र सोच के विकास के लिए कोई गुंजाइश नहीं है।"

SL-6155

बुद्धि का विकास मानव के अस्तित्व का अंतिम लक्ष्य होना चाहिए।"

SL-6156

किसी भी कौम का विकास उस कौम की महिलाओं के विकास से मापा जाता हैं |"

SL-6157

एक महान व्यक्ति एक प्रख्यात व्यक्ति से एक ही बिंदु पर भिन्न हैं कि महान व्यक्ति समाज का सेवक बनने के लिए तत्पर रहता हैं।"

SL-6158

जो व्यक्ति अपनी मौत को हमेशा याद रखता है वह सदा अच्छे कार्य में लगा रहता है।

SL-6159

मैं ऐसे धर्म को मानता हूँ जो स्वतंत्रता, समानता, और भाई-चारा सीखाये।

SL-6160

जिस तरह हर एक व्यक्ति यह सिधांत दोहराता हैं कि एक देश दुसरे देश पर शासन नहीं कर सकता उसी प्रकार उसे यह भी मानना होगा कि एक वर्ग दुसरे पर शासन नहीं कर सकता |"

SL-6161

उदासीनता लोगों को प्रभावित करने वाली सबसे खराब किस्म की बीमारी है।"

SL-6162

एक महान व्यक्ति एक प्रतिष्ठित व्यक्ति से अलग है क्योंकि वह समाज का सेवक बनने के लिए तैयार रहता है।"

SL-6163

एक सुरक्षित सेना एक सुरक्षित सीमा से बेहतर है।"

SL-6164

क़ानून और व्यवस्था राजनीति रूपी शरीर की दवा है और जब राजनीति रूपी शरीर बीमार पड़ जाएँ तो दवा अवश्य दी जानी चाहिए।

SL-6165

We are Indians, firstly and lastly.

SL-6166

The relationship between husband and wife should be one of closest friends."

SL-6167

Life should be great rather than long. "

SL-6168

In Hinduism, conscience, reason and independent thinking have no scope for development."

SL-6169

Cultivation of mind should be the ultimate aim of human existence."

SL-6170

I measure the progress of a community by the degree of progress which women have achieved."

SL-6171

A great man is different from an eminent one in In that he is ready to be the servant of the society."

SL-6172

I like the religion that teaches liberty, equality and fraternity.

SL-6173

Indifferentism is the worst kind of disease that can affect people."

SL-6174

A safe army is better than a safe border.

SL-6175

Law and order are the medicine of the body politic and when the body politic gets sick, medicine must be administered."

SL-1771

हम आदि से अंत तक भारतीय है।

SL-1772

पति- पत्नी के बीच का सम्बन्ध घनिष्ट मित्रों के सम्बन्ध के सामान होना चाहिए ।"

SL-1773

जीवन लम्बा होने की बजाये महान होना चाहिए ।

SL-1774

हिंदू धर्म में, विवेक, कारण, और स्वतंत्र सोच के विकास के लिए कोई गुंजाइश नहीं है।"

SL-1775

बुद्धि का विकास मानव के अस्तित्व का अंतिम लक्ष्य होना चाहिए।"