Shayari in Hindi & English

जब कभी सिमटोगे तुम... मेरी इन बाहों में आकर, 
मोहब्बत की दास्तां मैं नहीं मेरी धड़कने सुनाएंगी।

Share

लबों से छू लूँ जिस्म तेरा, 
साँसों में साँस जगा जाऊँ, 
तू कहे अगर इक बार मुझे, 
मैं खुद ही तुझमें समा जाऊँ।

Share

कब आपकी आँखों में हमें मिलेगी पनाह, 
चाहे इसे समझो दिल्लगी या समझो गुनाह, 
अब भले ही हमें कोई दीवाना करार दे, 
हम तो हो गए हैं आपके प्यार में फ़ना।

Share

जब यार मेरा हो पास मेरे, 
मैं क्यूँ न हद से गुजर जाऊँ, 
जिस्म बना लूँ उसे मैं अपना, 
या रूह मैं उसकी बन जाऊँ। 

Share

तड़प रहीं हैं मेरी साँसें 
तुझे महसूस करने को, 
खुशबू की तरह बिखर जाओ 
तो कुछ बात बने।

Share

अपने दिल की जमाने को बता देते हैं, 
हर एक राज से परदे को उठा देते हैं, 
आप हमें चाहें न चाहें गिला नहीं इसका, 
जिसे चाह लें हम उसपे जान लुटा देते हैं।

Share