Sms - Miscellaneous

लोग कुछ दिन सिगरेट - शराब पीते है,
और आदत लग जाती है .
हमको देखो हम बचपन से पढ़ रहे है
.
.
.
लेकिन आज तक आदत नहीं लगी
इसे कहते है आत्म सयम।।

Click Here To Read Full Post

6796 Views

परेशानियों ने भी क्या खूब याद रखा मेरे घर का पता...
वो तो खुशियाँ ही थी कमबख्त, जो आवारा निकली।

Click Here To Read Full Post

3135 Views

हथेली पर रखकर नसीब
हर शख्स मुकद्दर ढूंढता है
सीखो उस समंदर से
जो टकराने के लिए
पत्थर ढूंढता है.

Click Here To Read Full Post

6576 Views

Sau sukh pakar bhi insaan sukhi nahi hota

Par ek gum ka dukh manata rahta hai

Ye kaisi karamaat hai kudrat ki

Laash tair jati hai paani mein

Par zinda insaan doob jata hai

Click Here To Read Full Post

2836 Views